दिल्ली पुलिस की जांबाज सिपाही सीमा ढाका को 76 लापता बच्चों का पता लगाने के लिए मिला प्रमोशन

दिल्ली की महिला पुलिसकर्मी सीमा ढाका, जो समईपुर बादली पुलिस स्टेशन में तैनात हैं, आपको बता दें कि सीमा ने अपने काम के तीन महीने बाद ही 76 लापता बच्चों को ढूंढ लिया है, उन्हें दिल्ली पुलिस के आयुक्त के आदेश के अनुसार एएसआई में पदोन्नत किया गया है। ।

सीमा ढाका को वर्ष 2006 में कांस्टेबल के पद पर भर्ती किया गया था, जिसके बाद वह वर्ष 2014 में विभागीय परीक्षा देकर एक हवलदार बन गईं, हालांकि सीमा ढाका मूल रूप से पीके शामली की हैं, बता दें कि सीमा के पति भी दिल्ली पुलिस में हवलदार हैं। और उत्तर रोहिणी पुलिस स्टेशन में तैनात हैं।

सीमा ढाका जी का खुद का 8 साल का बेटा है, दिल्ली में गुमशुदा बच्चों की खबरें आती रहती हैं, खबरों के मुताबिक, दिल्ली में अब तक 57261 बच्चे लापता हुए हैं और उनमें से 21631 बच्चों की खोज की जा चुकी है। 14 महीनों में 1440 बच्चों को खोजकर उनके परिवार तक पहुंचा दिया गया है।

सूत्रों के अनुसार, पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव के आने के बाद से लापता बच्चों की तलाश में तेजी देखी गई है और इसी कड़ी में इस साल अगस्त में सीमा ढाका को 76 बच्चों को खोजने वाले लापता बच्चों की खोज का जिम्मा सौंपा गया था। केवल तीन महीनों में। निकला है।

सीमा कहती हैं कि उन्होंने रेलवे स्टेशनों से लेकर बस अड्डों तक ड्रग-एडिक्ट बच्चों के बीच अपनी खोज शुरू की और बड़ी संख्या में बच्चों को पाया, जिनमें से कई नाबालिग लड़कियां भी थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *